संजय राउत बोले: भारत-पाक बंटवारे से भी भयंकर है शिवसेना-भाजपा के बीच सीटों का बंटवारा - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Tuesday, September 24, 2019

संजय राउत बोले: भारत-पाक बंटवारे से भी भयंकर है शिवसेना-भाजपा के बीच सीटों का बंटवारा

संजय राउत बोले: भारत-पाक बंटवारे से भी भयंकर है शिवसेना-भाजपा के बीच सीटों का बंटवारा

संजय राउत
संजय राउत - फोटो : bharat rajneeti
महाराष्ट्र विधानसभा को लेकर सभी पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी है। सीट बंटवारे को लेकर सभी पार्टियों ने एक-दूसरे के साथ मंथन शुरू कर दिया है। वहीं, शिवसेना और भाजपा में भी सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत चल रही है। इस बीच शिवसेना ने आज सीटों के बंटवारे को लेकर बैठक बुलाई है। इस दौरान सीटों के बंटवारे का एलान हो सकता है। 

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने सीटों के बंटवारे पर कहा है कि यह बंटवारा भारत और पाकिस्तान के  बंटवारे से भी भयंकर है। उन्होंने कहा कि दोनों दलों में एक फॉर्मूले पर काम लगभग पूरा हो चुका है और अगले 24 घंटे अहम हैं। राउत ने कहा, 'इतना बड़ा महाराष्ट्र है, ये जो 288 सीट का बंटवारा है, ये भारत-पाकिस्तान के बंटवारे से भी भयंकर है।' 

उन्होंने कहा कि अगर सरकार के साथ न होकर विपक्ष में बैठे होते तो, आज तस्वीर कुछ और ही होती। खैर, सीटों पर जो भी निर्णय लिया जाएगा, हम आपको इस बात की जानकारी देंगे। 

बता दें कि शिवसेना, भाजपा के साथ बराबर सीट बांटना चाहती है और बची हुई सीटें गठबंधन की छोटी साझेदार पार्टियों में बांटना चाहती है, वहीं, भाजपा ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए आतुर हैं। दोनों दलों ने अभी तक सीट बंटवारे पर अंतिम फैसला नहीं लिया है। लेकिन लगभग दोनों दल आम सहमति पह पहुंच गए हैं। 

वर्तमान में 288 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के पास 122 सीटें हैं, वहीं शिवसेना के पास 63 सीटें हैं। सूत्रों के अनुसार भाजपा दोनों दलों के बीच ऐसे फॉर्मूले पर समझौता चाहती है, जिसपर भाजपा के पास 122 सीटें बनी रहें वहीं, शिवसेना के पास उसके हिस्से की 63 सीटें रहें। 

साथ ही बची हुई सीटों को रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया जैसे गठबंधन के छोटे दलों को देने के बाद आपस में बराबर बांट ली जाएं।