यूपी 100 का सिपाही कर रहा था नकली नोटों की सप्लाई, दो गिरफ्तार - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Saturday, October 12, 2019

यूपी 100 का सिपाही कर रहा था नकली नोटों की सप्लाई, दो गिरफ्तार

यूपी 100 का सिपाही कर रहा था नकली नोटों की सप्लाई, दो गिरफ्तार

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : bharat rajneeti
थाना पुलिस ने शुक्रवार को क्षेत्र में खपाए जा रहे नकली नोटों के धंधे का खुलासा कर दिया। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से 74400 रुपये के नकली और 1410 के असली नोट बरामद किए गए हैं। नकली सभी नोट दो-दो सौ के हैं। सरगना बरेली में तैनात सिपाही और भसराला का एक व्यक्ति बताया जा रहा है। ये दोनों अभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े हैं। शुक्रवार को म्याऊं चौकी इंचार्ज रणजीत बहादुर सिंह कस्बे में उसहैत तिराहे के नजदीक वाहनों की चेकिंग कर थे। उसी समय उन्हें मुखबिर ने सूचना दी कि तिराहे पर खड़े दो लोगों के पास नकली नोट हैं। उन्होंने किसी दुकान पर नोट चलाने का प्रयास किया था लेकिन दुकानदार ने कुछ गड़बड़ लगने पर नोट नहीं लिए। सूचना मिलते ही चौकी इंचार्ज मौके पर पहुंच गए। उन्होंने चौकी पुलिस के साथ दोनों लोगों को दबोच लिया। फिर पुलिस चौकी ले जाकर उनकी तलाशी ली।

उनके पास 74400 रुपये नकली और 1410 रुपये असली बरामद हुए। नकली राशि दो-दो सौ रुपये की शक्ल में थी। इन लोगों ने पूछताछ में अपने नाम अलापुर थाना क्षेत्र के ग्राम भसराला निवासी यावर अली पुत्र मकसूद अली और इरशाद पुत्र इसरार बताए। उन्होंने पुलिस को बताया कि उन तक नकली नोटों की सप्लाई उनके गांव का मुजीब अंसारी पुत्र अब्दुल हसीब और बरेली में यूपी-100 पर तैनात सिपाही जितेंद्र करता है। वह नकली नोट अधिकतर रात में चलाते हैं।

पुलिस ने चारों लोगों के खिलाफ धारा 420, 489 (सी) आईपीसी के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। वहीं सिपाही के संबंध में रिपोर्ट बनाकर बरेली पुलिस मुख्यालय भेजी गई है। पकड़े गए लोगों को जेल भेज दिया गया है।

बदायूं में तैनात रहा है सिपाही

नकली नोट खपाने में जिस सिपाही का नाम सामने आया है, उसकी बदायूं जिले में भी पोस्टिंग रही है। कुछ दिन पहले ही सिपाही का ट्रांसफर बरेली हुआ है। तैनाती के दौरान उसकी जिले के दर्जनों लोगों से जान पहचान हुई थी। मुजीब उसका साथी रहा है।

अलापुर इंस्पेक्टर कृष्णगोपाल शर्मा ने बताया कि  मुजीब और सिपाही जितेंद्र मिलकर किसी प्रिटिंग प्रेस पर नकली नोट छापते थे। हमने सिपाही के संबंध में पूरी रिपोर्ट बनाकर एसएसपी बरेली को भेज दी है। बाकी कार्रवाई यहां से हो गई है। चारो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।