BJP के साथ खत्म हो गईं गठबंधन की संभावनाएं? उसपर उद्धव ठाकरे का जवाब - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Wednesday, November 13, 2019

BJP के साथ खत्म हो गईं गठबंधन की संभावनाएं? उसपर उद्धव ठाकरे का जवाब

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग गया है. ऐसे में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या बीजेपी के साथ सरकार बनाने का विकल्प पूरी तरह से खत्म हो गया है. इस सवाल पर उन्होंने कहा कि आप इतनी जल्दी में क्यों हैं? यह राजनीति है. अभी राष्ट्रपति शासन है, 6 महीने का समय दिया गया है. मैंने बीजेपी के विकल्प को खत्म नहीं किया.
BJP गठबंधन
  • महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू
  • बीजेपी-शिवसेना के रिश्ते खराब दौर में
महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग गया है, लेकिन राजनीतिक पार्टियां सरकार बनाने की जोड़-तोड़ में लगी हुई हैं. ऐसे में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या बीजेपी के साथ सरकार बनाने का विकल्प पूरी तरह से खत्म हो गया है. इस सवाल पर उन्होंने कहा कि, 'आप इतनी जल्दी में क्यों हैं? यह राजनीति है. अभी राष्ट्रपति शासन है 6 महीने का समय दिया गया है. मैंने बीजेपी के विकल्प को खत्म नहीं किया. यह बीजेपी ही थी जिसने ऐसा किया.'

बीजेपी से बुरे वक्त में किया था गठबंधन: उद्धव

उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय हम बीजेपी से अलग चुनाव लड़ने जा रहे थे. बीजेपी खुद सामने से आई और हमने उनकी भावनाओं की कद्र और सम्मान किया. जबकि पूरे देश में ऐसा माहौल था कि बीजेपी की केंद्र सरकार नहीं आएगी और उन्हें ज्यादा से ज्यादा 200 से 220 सीटें मिलेंगी. ऐसे अंधेरे माहौल में भी हमने उनके साथ गए और गठबंधन कर चुनाव लड़े थे.

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान जो बातें हुई थी, उसे अमल करें यही हमारी मांग थी. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने दो दिन पहले कहा कि वो सरकार नहीं बनाना चाहते हैं और उन्होंने हमें सरकार बनाने की शुभकामनाएं दी थीं. ऐसे में हमें उनकी भावनाओं का आदर करना चाहिए.

शिवसेना ने बीजेपी पर वादा न निभाने का आरोप लगाया

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि हमारा सरकार बनाने का दावा अभी भी कायम है. बहुमत साबित करने के लिए 24 घंटे का वक्त कम है. उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी ने सीएम का पद हमें देने का वादा नहीं निभाया. उन्होंने यह बताने की कोशिश की कि हम झूठे हैं. हिंदुत्व हमारी आइडियोलॉजी है. राम ने अपना वादा निभाया. हम राम मंदिर चाहते हैं. वे अपना वादा नहीं निभा रहे, यह हिंदुत्व नहीं है.

कांग्रेस-एनसीपी से चल रही बात: शिवेसना

कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करने के सवाल पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम अलग विचारधारा के लोगों से बात कर रहे हैं इसलिए एक सहमति बनाने के लिए वक्त लगना स्वाभाविक है. उद्धव ने कहा राज्यपाल ने हमें ज्यादा वक्त नहीं दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी एक साथ बैठेगी, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर चर्चा जारी है. पहली बार हमारी कांग्रेस और एनसीपी नेताओं से बात हुई है.

शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी सरकार बनाने का दावा किया. उन्होंने कहा कि हम अभी भी सरकार बना सकते हैं. हमें थोड़ा वक्त चाहिए. एनसीपी कांग्रेस से बात चल रही है. हमने राज्यपाल से सरकार बनाने की इच्छा जताई थी. राज्यपाल ने हमें समय नहीं दिया. शिवसेना को समय की जरूरत है.