राफेल पर सुप्रीम फैसले के बाद राहुल गांधी बोले- कोर्ट ने जांच के दरवाजे खोले - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Thursday, November 14, 2019

राफेल पर सुप्रीम फैसले के बाद राहुल गांधी बोले- कोर्ट ने जांच के दरवाजे खोले

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा कि जस्टिस जोसेफ ने राफेल घोटाले की जांच के दरवाजे खोल दिए हैं. लिहाजा अब इस मामले की जांच पूरी गंभीरता से होनी चाहिए. इस घोटाले की जांच के लिए एक संयुक्त संसदीय समिति का गठन किया जाना चाहिए.
राफेल पर सुप्रीम फैसले के बाद राहुल गांधी बोले

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर से राफेल लड़ाकू विमान डील को लेकर ट्वीट किया है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस जोसेफ ने फैसला सुनाते हुए राफेल घोटाले की जांच के दरवाजे खोल दिए हैं. लिहाजा अब इस मामले की जांच पूरी गंभीरता से होनी चाहिए.

इस घोटाले की जांच के लिए एक संयुक्त संसदीय समिति (JPC) का गठन किया जाना चाहिए. राहुल गांधी का यह ताजा बयान राफेल डील पर सुप्रीम कोर्ट की तीन न्यायमूर्तियों की पीठ के फैसले के बाद आया है. गुरुवार को राफेल डील मामले में सुप्रीम कोर्ट की तीन न्यायमूर्तियों की पीठ ने फैसला सुनाया था और पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज किया था.

सुप्रीम कोर्ट की इस पीठ में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस संजय किशन कौल के साथ ही जस्टिस के. एम. जोसेफ शामिल रहे. जस्टिस जोसेफ ने राफेल डील की पुनर्विचार याचिका को खारिज करने पर सहमति जताने के साथ ही कहा कि प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट की धारा 17A के तहत याचिकाकर्ताओं की शिकायत बेकार नहीं हैं. उन्होंने कहा कि किसी गंभीर अपराध का खुलासा करने के लिए मामले में एफआईआर दर्ज की जानी चाहिए.

इससे पहले भी राहुल गांधी राफेल लड़ाकू विमान सौदे मामले की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति के गठन की मांग कर चुके हैं. राहुल गांधी राफेल डील में घोटाले का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘चौकीदार चोर है’ तक कह दिया था. उन्होंने कहा था कि अब तो सुप्रीम कोर्ट भी मान चुका है कि चौकीदार चोर है.

इसके बाद बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने राहुल गांधी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में आपराधिक अवमानना की याचिका दाखिल की थी, जिसके बाद राहुल गांधी को माफीनामा देना पड़ा था. गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने लंबी दलीलों के बाद राहुल गांधी के माफीनामा को स्वीकार कर लिया था.