महाभियोग: ट्रंप के खिलाफ नहीं मिला कोई सबूत, राष्ट्रपति ने कहा यह दोहरा मापदंड - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Saturday, November 16, 2019

महाभियोग: ट्रंप के खिलाफ नहीं मिला कोई सबूत, राष्ट्रपति ने कहा यह दोहरा मापदंड


व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को कहा कि महाभियोग सुनवाई में कांग्रेस पैनल ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा किए किसी भी गलत काम को लेकर कोई सबूत पेश नहीं किया है। व्हाइट हाउस ने कहा कि यूक्रेन में अमेरिका के पूर्व दूत राष्ट्रपति से जुड़े किसी भी आपराधिक गतिविधि से अनभिज्ञ थे।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की दूसरी सार्वजनिक सुनवाई के बाद कहा कि स्पीकर पेलोसी और कांग्रेसी शिफ के पहले की तरह बेकार और असंगत थी। राष्ट्रपति द्वारा किए गए किसी भी गलत काम को लेकर एक भी सबूत पेश नहीं किया गया।

ट्रंप के खिलाफ हाउस की ओर से महाभियोग की सुनवाई शुरू की गई थी इसीलिए यूक्रेन में अमेरिका की पूर्व राजदूत मैरी योवानोविच ने परमानेंट हाउस सिलेक्ट कमेटी के सामने गवाही दी। उसकी गवाही का हवाला देते हुए ग्रिशम ने कहा कि योवानोविच ने शपथ लेते हुए कहा कि वह राष्ट्रपति से जुड़ी किसी भी आपराधिक गतिविधि से अनजान थीं।

मैरी को यूक्रेन को दी जाने वाली सहायता के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। आज की सुनवाई में समय बर्बाद किया गया। ग्रिशम ने कहा कि दुर्भाग्य से अगले हफ्ते भी हाउस ऑफ डेमोक्रेट्स के पक्षपातपूर्ण राजनीतिक रंगमंच को देखेंगे। शुक्रवार को योवानोविच हाउस कमिटि के सामने पेश होने वाली तीसरी गवाह थीं।

वहीं ट्रंप ने महाभियोग की सुनवाई को दोहरा मापदंड बताया। उन्होंने कहा कि ऐसा अमेरिका के इतिहास में कभी देखने को नहीं मिला है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, 'हमारे देश के इतिहास में ऐसा दोहरा मापदंड पहले कभी नहीं देखा गया? सुनवाई से पहले ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के साथ पहली बार फोन पर हुई बातचीत का ट्रांसक्रिप्शन जारी किया।'

उन्होंने कहा कि यह दिखाता है कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है। ट्रंप ने उनके खिलाफ प्रतिनिधि सभा द्वारा शुरू की गई महाभियोग की कार्यवाही में डेमोक्रेटिक पार्टी पर रिपब्लिकन को नियत प्रक्रिया में भाग नहीं लेने देने का आरोप लगाया। सुनवाई के दौरान यूक्रेन की पूर्व राजदूत ने कहा कि उनके राजनयिक कार्यकाल को लेकर किए गए ट्रंप के ट्वीट धमकी वाले थे।