मंत्री की नसीहत- BJP हमलावर, सही साबित हो गया राहुल बजाज का 'डर'? - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Monday, December 2, 2019

मंत्री की नसीहत- BJP हमलावर, सही साबित हो गया राहुल बजाज का 'डर'?

ऐसा लग रहा है कि सरकार के मंत्रियों और बीजेपी नेताओं ने ही राहुल बजाज के डर को सही साबित कर दिया है. केंद्रीय मंत्री लगातार बजाज को निशाने पर ले रहे हैं और बीजेपी से जुड़े लोग भी उनके बयान के लिए उन्हें कांग्रेस का करीबी, मौकापरस्त बता रहे हैं.
  • राहुल बजाज पर हमलावर केंद्रीय मंत्री और BJP
  • सरकार की आलोचना पर दिया था बयान
  • बीजेपी प्रवक्ता ने कारोबारी को बताया मौकापरस्त
देश के जाने-माने उद्योगपति राहुल बजाज ने एक कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से कहा कि इस वक्त लोगों के बीच खौफ का माहौल है, लोग सरकार की आलोचना करने से डरते हैं, क्योंकि उन्हें विश्वास नहीं है कि उनकी आलोचना को सरकार में किस तरह लिया जाएगा. लेकिन ऐसा लग रहा है कि सरकार के मंत्रियों और बीजेपी नेताओं ने ही राहुल बजाज के 'डर' को सही साबित कर दिया है. केंद्रीय मंत्री लगातार बजाज को निशाने पर ले रहे हैं और बीजेपी से जुड़े लोग भी उनके बयान के लिए उन्हें कांग्रेस का करीबी व मौकापरस्त बता रहे हैं.

अमित शाह ने दिया जवाब

गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह ने मंच से राहुल बजाज के बयान पर अपनी असहमति जाहिर करते हुए कहा, 'किसी को किसी के बारे में डरने की जरूरत नहीं है. मीडिया में नरेंद्र मोदी सरकार की लगातार आलोचना हो रही है लेकिन अगर आप कह रहे हैं कि इस तरह का माहौल पैदा हो गया है तो इसे ठीक करने के लिए हमें काम करने की जरूरत है.'

अमित शाह ने कहा कि हमारी सरकार पारदर्शी तरीके से काम कर रही है और यदि इसकी आलोचना होती है और इस आलोचना में दम है तो हम इसे सुधारने की कोशिश करते हैं. हालांकि अमित शाह के बाद जिस तरीके से बीजेपी नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है, वह अपने आप में काफी कुछ कहती है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी उसी मंच पर मौजूद थीं और उन्होंने ट्वीट कर बजाज पर निशाना साधा.

निर्मला ने बताया राष्ट्रहित पर चोट

निर्मला ने कहा कि राहुल बजाज ने जिन मुद्दों को उठाया, उनका जवाब गृह मंत्री अमित शाह ने दिया. सवाल, आलोचना सबको सुना जाता है, उनका जवाब दिया जाता है, उसे रेखांकित किया जाता है. लेकिन जवाब पाने की बजाय अपनी धारणा फैलाना सही तरीका नहीं है और इससे राष्ट्रीय हित को धक्का लग सकता है.

हालांकि केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने बजाज के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए लोकतंत्र और संविधान के मूल्यों की दुहाई दी है. पुरी ने कहा, राहुल बजाज ने अमित शाह के सामने खड़े होकर आजादी से अपनी बात रखी और अन्य लोगों को भी उसमें शामिल करने की कोशिश की जो कि लोकतांत्रिक मूल्यों, अभिव्यक्ति की आजादी को दर्शाता है. भारत में यह मूल्य लगातार फल-फूल रहे हैं और यही सब लोकतंत्र है.

बीजेपी ने कांग्रेस परस्त कहा

मंत्रियों के अलावा बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने भी राहुल बजाज के बयान पर उल्टा उन्हें ही घेर लिया. मालवीय ने बजाज के पुराने बयान के हवाले से कहा, उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी को छोड़कर मेरे लिए किसी की भी तारीफ करना मुश्किल है. उन्होंने ट्वीट किया कि अपनी आस्तीन पर सियासी चोला खुलकर पहन लें और बकवास के पीछे छुपने से बचें कि डर का माहौल है. बीजेपी प्रवक्ता ने राहुल बजाज पर कांग्रेस शासन में फलने-फूलने का आरोप भी लगा दिया और कहा कि ऐसे कारोबारी हमेशा उनके आभारी ही रहेंगे.

बीजेपी सांसद जीवीएल नरसिम्हा ने तो राहुल बजाज को पाकिस्तान और विपक्ष का प्रेमी ही बता दिया. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जो कोई भी मोदी सरकार को गाली देगा वह विपक्ष, टुकड़े-टुकड़े गैंग और पाकिस्तान का प्रेमी बनेगा. एक बयान राष्ट्रपति की कुर्सी या संसद में एक सीट के लिए समर्थन दे सकता है. उन्होंने कहा कि कारोबारी खुद को बेचना जानता है और राहुल बजाज ने सही मौका पकड़ा है.