RJD Foundation Day: कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए लालू, बोले- अयोध्या के बाद मथुरा का नारा क्यों? देश तोड़ा जा रहा - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Monday, July 5, 2021

RJD Foundation Day: कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए लालू, बोले- अयोध्या के बाद मथुरा का नारा क्यों? देश तोड़ा जा रहा

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। स्थापना दिवस के अवसर पर लालू यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही उन्होंने लोजपा के दिवंगत नेता रामविलास पासवान को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) आज यानी सोमवार को अपना 25वां स्थापना दिवस मना रही है। इस मौके पर लंबे अरसे बाद आज पार्टी प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। लालू यादव ने कहा अयोध्या के बाद मथुरा का नारा दिया जा रहा है। आखिर क्या चाहते हैं देश में? लालू ने कहा कि सत्ता के लिए देश को तोड़ा जा रहा है। सामाजिक ताना-बाना को मजबूत रखने के लिए आरजेडी कार्यकर्ता मिलकर काम करें।

लालू यादव ने तबियत खराब होन के चलते दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से पटना में हो रहे रजय जयंती समारोह को संबोधित किया। लालू ने सबसे पहले पार्टी कार्यकर्ताओं को शुभकामनाएं दी। उसके बाद लोजपा के दिवंगत नेता रामविलास पासवान को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

मंडल आंदोलन का जिक्र कर बढ़ाया कार्यकर्ताओं का उत्साह

लालू यादव ने आरजेडी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मंडल आंदोलन का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि समाज के वंचित लोगों को पहली बार हमारी सरकार में मतदान केंद्र तक जाने का मौका मिला। लालू ने कहा, 'पार्टी का भविष्य उज्जवल है, मैंने पांच-पांच प्रधानमंत्रियों को देखा और बनाने में सहयोग किया। उन्होंने कहा कि बिहार आंदोलन के दौरान मेरे मारे जाने की खबर आई, जिसने गरीबों को बहुत ताकत दी।'

लालू ने केंद्र पर हमला, औने-पौने दाम में बेचे जहाज-रेल

केंद्र और नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए लालू ने कहा कि कोरोना काल में महंगाई और बेरोजगारी ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है। सारे सरकारी उपक्रमों को बेचा जा रहा है। जहाज-रेल को औने-पौने दाम में बेचा जा रहा है, इतनी गरीबी-इतनी महंगाई अगर हमारी सरकार में होती तो लोग चलना दूभर कर देते, लेकिन आज कोई सुनवाई नहीं है, इसका असर गरीबों पर पड़ रहा है। बिहार विधानसभा की चर्चा करते हुए लालू ने कहा कि चुनाव के वक्त हम चुनाव प्रचार करने नहीं आ पाए, इसका हमें मलाल है।

कहा- टूटने वाले नहीं

लालू प्रसाद यादव ने कहा, हम पीछे हटने वाले नहीं हैं। मिट जाएंगे, लेकिन टूटने वाले नहीं हैं, मेरे राज को जंगलराज बोला जाता था क्योंकि वो गरीबों का राज था। अरसे से बिहार में रोटी एक तरफ पक रही थी, जब मैंने पलटा तो लोगों को दिक्कत हो गई। तब चिल्लाने लगे कि जंगलराज आ गया, जंगलराज। नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए लालू ने कहा कि आज ऐसा कोई दिन नहीं बीतता है, जब बिहार में तीन-चार हत्याएं न होती हो। भ्रष्टाचार चरम पर है, आज हमारा बिहार बहुत पीछे हैं, लाखों-लाख प्रवासी मजदूर हैं। आज भी लाखों लोग दूसरे शहरों में रोजगार के लिए जाते हैं, जब वह लौटने लगे तो आरजेडी कार्यकर्ताओं ने उन्हें घर तक पहुंचाया।

यूं तो आम तौर पर अपनी ही पार्टी के पोस्टरों से दूर रहने वाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव इस बार इस समारोह को लेकर लगाए गए पोस्टरों में खूब नजर आ रहे हैं। इसी कार्यक्रम के सिलसिले में पटना में लगे एक पोस्टर में लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव नजर आ रहे हैं। इसपर लिखा है कि राजद के 25वें स्थापना दिवस की बधाई। बिहार की राजनीतिक के जानकार कह रहे हैं कि पोस्टर पर लालू की वापसी का मतलब सियासत में लालू की वापसी हो सकता है और यह संदेश भी कि लालू के बिना तेजस्वी का जादू चलने वाला नहीं है।

चुनाव के दौरान हटवा दिए थे बैनर

बता दें कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के दौरान जब तेजस्वी यादव राजद की बागडोर संभाल रहे थे, तब उनकी छवि को बेदाग दिखाने के लिए लालू यादव की तस्वीरों वाले सभी बैनर, पोस्टर और होर्डिंग हटवा दिए गए थे। उल्लेखनीय है कि उस समय लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला मामले में जेल में बंद थे। ऐसे में अब पार्टी के पोस्टरों में उनकी वापसी के खूब सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।