Van Mahotsav Campaign : यूपी में आज बनेगा नया रिकॉर्ड, वन महोत्सव के तहत 25 करोड़ पौधे लगाने का दावा - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Sunday, July 4, 2021

Van Mahotsav Campaign : यूपी में आज बनेगा नया रिकॉर्ड, वन महोत्सव के तहत 25 करोड़ पौधे लगाने का दावा

  • झांसी में राज्यपाल और सुल्तानपुर में सीएम करेंगे पौधरोपण
  • मिशन-30 करोड़ के तहत एक दिन में लगाए जाएंगे 25 करोड़ पौधे
वन महोत्सव के तहत आज योगी सरकार पौधरोपण का नया रिकॉर्ड बनाएगी। इस एक दिन में 25 करोड़ पौधे लगाए जाएंगे। इस मौके पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल झांसी में और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के किनारे पौधरोपण करेंगे। जिले के प्रभारी मंत्री और नोडल अधिकारी भी अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में पौधरोपण करने के साथ इसकी भी निगरानी करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा पौधरोपण को जन-आंदोलन बनाने की है। इस बाबत इच्छुक लोगों को उनके कृषि जलवायु की अनुकूलता के अनुसार उनकी पसंद की प्रजातियों के पौधे निशुल्क उपलब्ध कराए गए हैं। हर जिले के लिए अलग-अलग लक्ष्य तय किए गए हैं। अब तक लोग 17 करोड़ से अधिक पौधे ले जा चुके हैं। लोग अधिक से अधिक पौधे लगाएं, इसके लिए सरकार ने ‘पौधे लगाओ-इनाम पाओ’ के नाम से एक प्रतियोगिता भी शुरू की है। इसके तहत पौध लगाने की फोटो वन विभाग की वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी। पौधरोपण वाली खास प्रविष्टियों को सरकार पुरस्कृत भी करेगी।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल झांसी में सिमरधा डैम पर स्मृति वाटिका की स्थापना करेंगी। इसके तहत वह वहां पर पोषक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर पौधे लगाएंगी। स्मृति वाटिका में पौधों की कुल संख्या करीब पांच हजार होगी। स्मृति वाटिका झांसी से करीब 8 किमी दूर झांसी-ग्वालियर मार्ग पर पहुज नदी के किनारे बने सिमरधा बंधे के पहुंच मार्ग पर है। इसके एक ओर पहुज नदी का विशाल जलभराव वाला क्षेत्र है, तो दूसरी ओर हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले ध्यानचंद की विशाल प्रतिमा।

पौधरोपण अभियान को सफल बनाने के लिए पूरी तैयारी हो चुकी है। वन विभाग इसकी नोडल एजेंसी है। 26 अन्य विभाग इसमें सहयोग कर रहे हैं। इन विभागों को कुल 19.20 करोड़ पौधरोपड़ का लक्ष्य दिया गया है। बाकी 10.80 करोड़ पौधे वन विभाग लगाएगा। कृषि जलवायु क्षेत्र के अनुसार हर जिले में लोगों की मांग के अनुसार समय से पौधे उपलब्ध हों, इसके लिए वन विभाग की 1813 पौधशालाओं में 42.17 करोड़ पौध तैयार है। रेशम और उद्यान विभाग की नर्सरियों में पौध तैयार की गई है। पारदर्शिता के लिए जो विभाग पौधे लगाएगा, वह उस जगह की जिओ टैंगिग भी कराएगा।

योगी के कार्यकाल में सौ करोड़ नए पौधे

योगी सरकार के कार्यकाल में वन महोत्सव के दौरान अब तक अलग-अलग प्रजातियों के 60,24,46,551 पौधे लगाए जा चुके हैं। पर्यावरण दिवस और ऐसे ही अन्य अवसरों पर लगने वाले पौधों की संख्या इसके अतिरिक्त है। इस तरह इस साल मिशन 30 करोड़ के इन पौधों की संख्या को जोड़ दें, तो यह संख्या सौ करोड़ के करीब होगी। फॉरेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया की वर्ष 2019 की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश में 2017 की तुलना में वनावरण में 127 किलोमीटर की वृद्धि हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश का वृक्षावरण राष्ट्रीय औसत 2.89 फीसदी की तुलना में 3.05 फीसदी है।