kerala news :- जिले में टीका लगवाने के बाद भी कोरोना से संक्रमित हुए 7,000 लोग, सरकार सतर्क - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Friday, August 6, 2021

kerala news :- जिले में टीका लगवाने के बाद भी कोरोना से संक्रमित हुए 7,000 लोग, सरकार सतर्क

केरल के एक जिले में टीकाकरण के बावजूद कोरोना संक्रमित होने के हजारों मामले सामने आए हैं। इससे सरकार की चिंता बढ़ गई है। पठानमथिट्टा जिले में 7,000 से अधिक ऐसे लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनका टीकाकरण हो चुका है। छह सदस्यीय केंद्रीय टीम ने राज्य की अपनी हालिया यात्रा के दौरान इसको लेकर चिंता प्रकट की है। प्रारंभिक आकलन से पता चलता है कि ये मामले उन लोगों में दर्ज किए गए जिन्हें कोवैक्सिन और कोविशील्ड की एक या दोनों खुराकें मिली थीं।

केंद्रीय टीम ने जिले पर एक विशेष रिपोर्ट प्रस्तुत की है। पथानामथिट्टा और अन्य जिलों से जीनोम अनुक्रमण के लिए नमूनों पर राज्य से विवरण मांगा है ताकि मामलों का कारण निर्धारित किया जा सके।

दूसरी लहर के दौरान रिसर्च और साक्ष्य ने संकेत दिए हैं कि विशेष रूप से डेल्टा वेरिएंट नेकोरोना वैक्सीन से उत्पनान इम्यूनिटी पर काबू पा लिया है। इस तरह के आंकड़े चिंता बढ़ाने वाले हैं।

इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पथनमथिट्टा की कलेक्टर दिव्या एस अय्यर ने कहा है कि कम से कम 5042 लोग टीकों की दो खुराक के बाद पॉजिटिव निकले हैं। इनमें से 258 दोनों खुराक के दो सप्ताह पूरे करने के बाद कोरोना पॉजिटिव हो गए। इसके साथ ही सिर्फ पहली खुराक लेने वाले 14974 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से 4490 दो हफ्ते बाद पॉजिटिव निकले।

केंद्रीय टीम के एक सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर इकनॉमिक टाइम्स को बताया, “हमें यह आकलन करने के लिए अधिक विवरण की आवश्यकता है कि क्या यह वैक्सीन की विफलता का मामला है या फिर कुछ और है। हमने स्थिति की अधिक समग्र तस्वीर प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार से पहली खुराक और दूसरी खुराक की सफलता के मामलों पर सभी जिलों से विवरण मांगा है।”

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक सुजीत सिंह की अध्यक्षता में टीम को केरल भेजा गया था। देश के बाकी राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर लगभग शांत हो चुकी है। लेकिन केरल में लगातार कई हफ्तों से 10,000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैँ।