Afghanistan News :- अमेरिकी दूतावास ने अमेरिकियों को चेताया- यहां से जल्दी जाओ, एयरपोर्ट अभी मत आना - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Saturday, August 28, 2021

Afghanistan News :- अमेरिकी दूतावास ने अमेरिकियों को चेताया- यहां से जल्दी जाओ, एयरपोर्ट अभी मत आना

काबुल एयरपोर्ट पर हमले के बाद से खतरा और बढ़ गया है। काबुल एयरपोर्ट पर मंडरा रहे आतंकी हमले के साये के बीच अमेरिकी दूतावास ने अपने नागरिकों के लिए एक और एडवाइजरी जारी की है और सुरक्षा कारणों से उन्हें तुरंत वहां से निकलने को कहा गया है। अमेरिकी दूतावास ने अपने नागरिकों से काबुल एयरपोर्ट की यात्रा से बचने को कहा है। साथ ही कहा है कि जो लोग अबे, ईस्ट, नॉर्थ और मिनिस्ट्री ऑफ इंटीरियर गेटों पर हैं, उन्हें तुरंत वहां से निकलना चाहिए। उन्हें निर्देशों का पालन करने को कहा गया है।

काबुल में अमेरिकि दूतावास ने अपने वेबसाइट पर एक बयान जारी कर कहा, 'काबुल हवाई अड्डे पर सुरक्षा खतरों के कारण हम अमेरिकी नागरिकों को हवाईअड्डे की यात्रा से बचने और एयरपोर्ट के गेटों से दूर रहने की सलाह देना जारी रख रहे हैं। जो अमेरिकी नागरिक एबी गेट, ईस्ट गेट, नॉर्थ गेट या न्यू मिनिस्ट्री ऑफ इंटीरियर गेट पर हैं, उन्हें अब तुरंत वहां से निकल जाना चाहिए। बता दें कि काबुल हमले के पहले भी अमेरिकी दूतावास ने ऐसी ही चेतावनी जारी की थी।

मगर यह लेटेस्ट चेतावनी ऐसे वक्त में है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की सुरक्षा टीम ने चेताया है कि काबुल में एक और आतंकी हमला हो सकता है। अमेरिकी प्रेसीडेंट को बताया गया है कि काबुल में एक और आतंकी हमला होने की आशंका है और इस वजह से अफगानिस्तान की राजधानी में एयरपोर्ट पर सिक्योरिटी और बढ़ाई जा रही है।

जेन साकी ने बताया कि कमांडर्स ने प्रेसीडेंट को यह भी जानकारी दी है कि इस्लामिक स्टेट-खोरासन से निपटने के लिए क्या योजनाएं बनाई जा रही हैं। इसके मुताबिक कमांडर्स ने राष्ट्रपति को बताया कि अफगानों को वहां से निकालने के मिशन के आने वाले दिन बहुत चुनौतीपूर्ण होंगे। वहीं बाइडेन ने भी अमेरिकी सैन्य कमांडर्स से कहा है कि काबुल में अपनी सेना को बचाने और ऑपरेशन के लिए जितने भी अप्रूवल चाहिए सब मिलेंगे। इसको बेहतर ढंग से अंजाम देने के लिए उन्हें सारे संसाधन भी मुहैया कराए जाएंगे। गौरतलब है कि इससे एक दिन पहले काबुल हवाई अड्डे के पास हुए हमलों में अमेरिका के 13 सैनिक मारे गए थे।

इधर, अमेरिकी सेना ने कहा कि उसने तालिबान को कुछ सड़कों को बंद करने के लिए भी कहा है, क्योंकि वाहनों में आत्मघाती हमलावरों के आने की संभावना है। तालिबान ने शुक्रवार को काबुल हवाई अड्डे से 1,600 फीट की दूरी पर एक अवरोध स्थापित करने के लिए लड़ाकों से भरे एक पिकअप ट्रक का इस्तेमाल किया और तीन ने हमवीस को पकड़ लिया। पेंटागन के अनुसार, अमेरिका एसी-130 गनशिप के उपयोग सहित निगरानी और सुरक्षा के लिए हवाईअड्डे पर मानव रहित और मानव रहित उड़ानें रखेगा।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि उचित सुरक्षा व्यवस्था के साथ अभी भी इन गेटों के जरिएअनुमति दी जा रही है क्योंकि काबुल हवाई अड्डे के अंदर लगभग 5,400 लोग अभी भी उड़ानों की प्रतीक्षा कर रहे हैं। अमेरिका के अनुसार, काबुल हवाई अड्डे से 100,000 से अधिक लोगों को निकाला गया है, मगर तालिबान के अधिग्रहण के बाद हजारों लोग अफगानिस्तान छोड़ने के लिए बेताब हैं।

काबुल में अमेरिकी दूतावास ने अमेरिकियों द्वारा अपनाई जाने वाली कुछ सावधानियों की एक लिस्ट जारी की है-
• हर समय अपने आस-पास को लेकर अलर्ट रहें, खासकर भीड़-भाड़ वाले इलाके में एक्टिव रहें।
• कर्फ्यू से संबंधित आवाजाही पर प्रतिबंध सहित स्थानीय अधिकारियों के निर्देशों का पालन करें।
• आपात स्थिति के लिए एक आकस्मिक योजना बनाएं और ट्रैवेलर्स चेकलिस्ट की समीक्षा करें।
• ताजा घटनाओं और सूचनाओं के लिए स्थानीय मीडिया पर नज रखें और नई जानकारी के आधार पर अपनी योजनाओं को बनाएं