एयरस्पेस खोलने से इनकार पर भारत ने कहा- पाक को जल्दी ही मूर्खता का एहसास होगा - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Friday, September 20, 2019

एयरस्पेस खोलने से इनकार पर भारत ने कहा- पाक को जल्दी ही मूर्खता का एहसास होगा

एयरस्पेस खोलने से इनकार पर भारत ने कहा- पाक को जल्दी ही मूर्खता का एहसास होगा

Narendra Modi
Narendra Modi - फोटो : bharat rajneeti

खास बातें

  • पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस खोलने से इनकार किया 
  • विदेश सचिव ने कहा- जल्द ही पाकिस्तान को अपनी मूर्खता का एहसास होगा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी दौरे और संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने के लिए शुक्रवार को अमेरिका जा रहे हैं। भारत ने प्रधानमंत्री की यात्रा को लेकर पाकिस्तान से एयरस्पेस खोलने का आग्रह किया था। लेकिन, पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस खोलने से इनकार कर दिया है। इस पर भारत ने गुरुवार को कहा कि उम्मीद है कि पाकिस्तान को अपनी मूर्खता का अंदाजा होगा।  पाकिस्तान ने इनकार करने की वजह भारत द्वारा कश्मीर पर उठाए गए कदम को बताया था। इससे पहले पाक ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विमान को भी अपने हवाई क्षेत्र से गुजरने की अनुमति नहीं दी थी। इस कायरता भरे कदम पर पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सात सितंबर को बयान दिया था कि कश्मीर के मौजूदा हालात पर नजर बनाते हुए हमने अपने एयरस्पेस को बंद करने का फैसला लिया है। 

पाकिस्तान द्वारा एयरस्पेस बंद किए जाने पर विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है, जहां एक देश किसी अन्य देश की सरकार के प्रमुख को अपने रास्ते से जाने देने से इनकार करता है। हमनें अपना रुख साफ कर दिया है। हम उम्मीद करते हैं कि उन्हें जल्द ही अपनी मूर्खता का एहसास होगा। 

जब विदेश सचिव से यह पूछा गया कि क्या भारत अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन जैसे वैश्विक मंच पर इस मुद्दे को उठाएगा। इस सवाल पर गोखले ने जवाब दिया कि जहां तक किसी भी अंतर्राष्ट्रीय संगठन में जाने का सवाल है, हम उस पर विचार करेंगे। हमारा अभी तक ऐसा करने का कोई इरादा नहीं है। लेकिन अगर वे आईसीएओ के नियमों का उल्लंघन करते हैं, तो हो सकता है कि हम इस बात पर विचार करें।