झांसी के लिए रवाना हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश, पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से करेंगे मुलाकात - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Wednesday, October 9, 2019

झांसी के लिए रवाना हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश, पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से करेंगे मुलाकात

झांसी के लिए रवाना हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश, पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से करेंगे मुलाकात

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव।
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव। - फोटो :bharat rajneeti
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से झांसी जाने को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कार्यक्रम तय हो चुका है। बुधवार सुबह अखिलेश लखनऊ से झांसी के करगुवा खुर्द के लिए रवाना हुए। वहां पहुंच कर वे एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिवार वालों से मुलाकात करेंगे। रात में सर्किट हाउस में रुकने बाद अखिलेश गुरुवार सुबह वापस लौटेंगे।  गौरतलब है कि शनिवार रात दुस्साहसिक तरीके से मोंठ थाने के इंस्पेक्टर पर हमला करने के बाद कार लूटकर भागने वाले पुष्पेंद्र यादव को गुरसराय  थाना क्षेत्र में रविवार को पुलिस मुठभेड़ में ढेर कर दिया था। 

मौके से उसके दो साथी भाग निकले थे। कार से पुलिस ने दो तमंचे, कारतूस व मोबाइल बरामद किया था। आरोप है कि शनिवार को रात करीब नौ बजे मोंठ प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र सिंह चौहान पर बमरौली बाईपास तिराहा के पास हमला किया गया था।

प्रभारी निरीक्षक ने आरोप लगाया था कि हमलावरों ने गोली चलाई और कार लूटकर ले गए। इसके बाद घायल इंस्पेक्टर को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। 

इस मामले में देर रात एरच के करगुवां निवासी विपिन, पुष्पेंद्र व रविंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। बताया गया कि 29 सितंबर को बालू से भरा ट्रक बंद किए जाने के विरोध में इंस्पेक्टर पर हमला किया गया था। घटना के बाद पुलिस ने हमलावरों की घेराबंदी की थी। 

एसएसपी डॉ.ओपी सिंह के अनुसार गुरसराय क्षेत्र में रात करीब 2.30 बजे फरीदा गांव के पास सड़क पर कार आती दिखी। पुलिस ने कार को रोकने का प्रयास किया। इस दौरान कार सवारों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई, जो पुष्पेंद्र के सिर में जा लगी। मौका पाकर अन्य दो साथी भाग निकले। पुलिस टीम पुष्पेंद्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। 

मालूम हो कि पिछले दिनों पुष्पेंद्र यादव के एनकाउंटर को लेकर अखिलेश ने झांसी पुलिस की निंदा करते हुए कहा था कि पुष्पेंद्र को न्याय देने के बजाय उलटा उनके शोकाकुल परिजनों पर झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है। इससे पहले समाजवादी पार्टी ने इस एनकाउंटर की जांच हाईकोर्ट के किसी सिटिंग जज से कराए जाने की मांग की। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसकी मांग करते हुए कहा है कि भाजपा सरकार सत्ता के दंभ में जनता की आवाज को बूटों तले रौंदने पर उतर आई है।