रैली में बोले अमित शाह- इतनी भीड़ से नहीं जीत पाएंगे, 25-25 लोगों को फोन लगाइए - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Thursday, November 28, 2019

रैली में बोले अमित शाह- इतनी भीड़ से नहीं जीत पाएंगे, 25-25 लोगों को फोन लगाइए

झारखंड के चतरा में रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भीड़ से 25-25 लोगों को फोन मिलाकर बीजेपी को वोट देने की अपील की है. अमित शाह ने कहा कि ये 10-15 हजार लोगों से हम जीत लेंगे क्या, मुझे भी गणित आता है, मैं भी बनिया हूं, बेवकूफ मत बनाओ |
  • झारखंड के चतरा में अमित शाह की रैली
  • शाह ने की बीजेपी को वोट देने की अपील
झारखंड के चतरा में रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भीड़ से 25-25 लोगों को फोन मिलाकर बीजेपी को वोट देने की अपील की है. बीजेपी लगातार दूसरी बार चुनाव जीतने की कोशिश में लगी हुई है.

अमित शाह ने कहा, 'ये 10-15 हजार लोगों से हम जीत लेंगे क्या, मुझे भी गणित आता है, मैं भी बनिया हूं, बेवकूफ मत बनाओ, आपको एक रास्ता बताता हूं, आप करेंगे क्या, सब लोग हाथ में मोबाइल उठाकर अपने 25-25 परिजनों को फोन करो और कमल के निशान पर वोट डालने की अपील करो.'

अस्थिर सरकार मत बनाइएगाः शाह

चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि झारखंड के चुनाव में आज एक ओर बीजेपी है जो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की सुरक्षा और विकास के लिए काम करती है. तो दूसरी ओर कांग्रेस और जेएमएम का गठबंधन है, जिन्होंने भ्रष्टाचार के अलावा झारखंड को कुछ नहीं दिया.

उन्होंने आगे कहा कि झारखंड को अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया और नरेंद्र मोदी तथा रघुबर दास ने इसे संवारने और आगे ले जाने का काम किया. लोगों से वोट देने की अपील करते हुए शाह ने कहा कि जब भी आप वोट देने जाएं तो अस्थिर सरकार मत बनाइएगा. कभी कोई निर्दलीय राज्य का मुख्यमंत्री बन जाता था, दिल्ली में कांग्रेस को करोड़ों रुपये भेजता रहता था. अस्थिर सरकार से कभी झारखंड का विकास नहीं हुआ.

नक्सलवाद को उखाड़ फेंकेंगेः शाह

पिछले दिन लातेहर में हुए नक्सली हमले पर शाह ने कहा कि अभी-अभी लातेहार में पुलिस के 4 जवान शहीद हो गए, मैं इस मंच से नक्सलवादियों को कहने आया हूं कि जितनी खैर मनानी है मना लो, यहां फिर से बीजेपी की सरकार बनने वाली है, हम मूल समेत नक्सलवाद को उखाड़ फेंकेंगे.

शाह ने आगे कहा कि पिछले 70 साल से कांग्रेस पार्टी आयोध्या मामले का केस चलने नहीं दे रही थी. 2018 में केस आया तो कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि 2019 के बाद ये केस चलना चाहिए. मगर श्रीराम की इच्छा कुछ और थी. 2019 में भी मोदी आ गए और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भव्य राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त हो गया है. अब भगवान राम के जन्मस्थान पर आसमान को छूने वाला राम मंदिर बनने से कोई नहीं रोक सकता.