देश में आ गई तीसरी लहर? केरल में कोरोना का महाविस्फोट, लगातार चौथे दिन आए 20 हजार नए केस - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Saturday, July 31, 2021

देश में आ गई तीसरी लहर? केरल में कोरोना का महाविस्फोट, लगातार चौथे दिन आए 20 हजार नए केस

केरल में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों ने देश की चिंता बढ़ा दी है, क्योंकि रोजाना मिलने वाले नए केसों में करीब 50 फीसदी योगदान इसी राज्य का होता है। केरल में कोरोना किस कदर भयावह होता जा रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते चार दिनों से लगातार कोरोना के मामले 20 हजार से अधिक आ रहे हैं। केरल में शुक्रवार को लगातार चौथे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 20 हजार से अधिक मामले सामने आए और 116 रोगियों की मौत हुई। राज्य में संक्रमण की दर 13.61 प्रतिशत है। वहीं, देश स्तर पर बात करें तो पिछले चार दिनों से लगातार 40 हजार से अधिक केस मिल रहे हैं।

राज्य सरकार की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि संक्रमण के 20,772 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 33,70,137 हो गई है। 116 रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 16,701 तक पहुंच गई है। 14,651 लोगों के संक्रमण से उबरने के बाद ठीक हो चुके लोगों की संख्या 31,92,104 हो गई। बता दें कि आज और कल केरल में कंप्लीट लॉकडाउन का ऐलान किया गया है।

सरकारी बयान के अनुसार, केरल में बीते 24 घंटे में 1,52,639 नमूनों की जांच की गई। संक्रमण दर 13.61 प्रतिशत है। अब तक 2,70,49,431 नमूनों की जांच की जा चुकी है। जबकि उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,60,824 है। बता दें कि केंद्र सरकार की एक टीम राज्य को कोविड-19 चुनौतियों से निपटने में मदद करने के लिए शुक्रवार को प्रदेश पहुंची।

इसी बीच अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि केरल में आर-फैक्टर में तेजी से वृद्धि के कारण राज्य संक्रमण के नए मामलों में अगले कुछ हफ्तों तक शीर्ष पर रहेगा। आर-फैक्टर यह संकेत देता है कि किस गति से देश में संक्रमण का प्रसार हो रहा है और चेन्नई के गणितीय विज्ञान संस्थान के अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार केरल में स्थिति अभी चिंताजनक रहेगी। आर-वैल्यू (अंक) जितना कम होगा, उतनी तेजी से महामारी के प्रसार में गिरावट आएगी। उसी तरह से, अगर आर-वैल्यू एक से ज्यादा है तो इसका मतलब है कि संक्रमित लोगों की संख्या प्रत्येक चरण में बढ़ रही है और तकनीकी रूप से कहें तो यही महामारी वाला चरण होता है।

आर-वैल्यू एक से जितना ज़्यादा होगा, उतनी ही तेजी से संक्रमण का प्रसार बढ़ेगा और संक्रमण दर में वृद्धि होगी। केरल में फिलहाल सबसे ज्यादा मरीजों का उपचार चल रहा है और आर-वैल्यू 1.11 के पास है। बता दें कि केरल में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 22,064 नए मामले सामने आए थे और 128 लोगों की मौत हो गई।

देश में कोरोना का हाल

भारत में बीते 24 घंटे में कोरोना के 41,649 मामले सामने आए हैं, जो कि कल की तुलना में कम हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को 44,230 नए मामलों की पुष्टि हुई थी। रिकवरी रेट की बात करें तो अब यह 97 प्रतिशत से अधिक है। बीते 24 घंटे में 37,291 मरीजों ने इस महामारी को मात दी है। इसके साथ ही देश में कोरोना से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 3,07,81,263 हो चुकी है।