महाराष्ट्र में बोले अमित शाह: कांग्रेस के 50 साल पर भाजपा के पांच साल का पलड़ा भारी - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Friday, October 18, 2019

महाराष्ट्र में बोले अमित शाह: कांग्रेस के 50 साल पर भाजपा के पांच साल का पलड़ा भारी

महाराष्ट्र में बोले अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र की एक रैली में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले पांच साल में नक्सलवाद की समस्या पर लगाम कसी है। शाह ने राहुल गांधी से सवाल किया, आपकी चार पीढ़ियों ने देश में 70 साल तक शासन किया, आदिवासियों के लिए आपने क्या किया?
उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को महाराष्ट्र में अपने कामकाज का हिसाब देना चाहिए। गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अनुच्छेद 370 समाप्त करने को तैयार नहीं थी, प्रधानमंत्री मोदी ने यह कर दिया।

शाह ने कहा- मैं शरद पवार और राहुल बाबा को कहना चाहता हूं कि आप जरा आहेरी की मेरी जनता के सामने हिसाब-किताब लेकर आइए, कि आपने महाराष्ट्र, विदर्भ और आहेरी के लिए क्या किया है? मैं कहना चाहता हूं कि आपके 50 साल और हमारे पांच साल, हमारा पलड़ा भारी है।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का काम किया है। कांग्रेस और एनसीपी कहती है कि महाराष्ट्र का इससे क्या लेना देना। शिवाजी महाराज और वीर सावरकर का ये प्रदेश है। इस धरती के सपूतों ने राष्ट्र की सुरक्षा में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

85 फीसदी स्थानीय युवाओं को रोजगार

देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में चलने वाली महाराष्ट्र में भाजपा सरकार अभी घोषणा पत्र लेकर आई है। भाजपा सरकार 85 फीसदी से ज्यादा स्थानीय युवाओं को रोजगार देने का काम करेगी।

केंद्र में कांग्रेस सरकार थी तब 13वें वित्त आयोग में महाराष्ट्र को 1.15 लाख करोड़ रुपये दिए थे। मोदी जी ने 14वें वित्त आयोग में महाराष्ट्र को 4.38 लाख करोड़ रुपये देने का काम किया है। मोदी सरकार और देवेन्द्र सरकार ने महाराष्ट्र का गौरव बढ़ाया है।

शाह ने कहा कि ओबीसी समाज के भाई बहनों के सम्मान के लिए कांग्रेस की सरकारों ने कुछ नहीं किया। भाजपा की सरकार ने ओबीसी समाज को संवैधानिक मान्यता देने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि पहले आदिवासी क्षेत्र से निकलने वाली खनिज संपदा के एवज में आदिवासियों को फूटी कौड़ी भी नहीं दी जाती थी। हमने इन क्षेत्रों के विकास के कुल 531 करोड़ रुपये पहुंचाने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के लिए अलग से शहीद स्मारक बनाने का निर्णय करके उन आदिवासी वीरों को सम्मान देने का काम किया है।