जन्मदिन पर मायावती का वार- मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार, गरीब लाचार - Politics news of India | Current politics news | Politics news from India | Trending politics news,India News (भारत समाचार): India News,world news, India Latest And Breaking News, United states of amerika, united kingdom

.

Wednesday, January 15, 2020

जन्मदिन पर मायावती का वार- मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार, गरीब लाचार

मायावती ने कहा कि केंद्र की नीतियां पूरी तरह से गलत हैं और इस वजह से देश में इस वक्त गरीबी, अशिक्षा और तनाव का माहौल है. मायावती ने कहा कि गरीब, आदिवासी, मुस्लिम और दूसरे धार्मिक अल्पसंख्यक इस सरकार में ज्यादा परेशान हैं.
मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार, गरीब लाचार
  • मायावती ने कहा-मोदी राज सत्ता का दुरुपयोग कर रही है
  • मुस्लिम और दूसरे धार्मिक अल्पसंख्यक सरकार से परेशान
बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) अध्यक्ष मायावती बुधवार को अपना 64वां जन्मदिन मना रही हैं. इस मौके पर उन्होंने लखनऊ में मीडिया को संबोधित किया. मायावती ने कहा कि नरेंद्र मोदी राज में अर्थव्यवस्था बीमार है और 130 करोड़ लोगों के रोजाना रोजी-रोटी का संकट है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मायावती ने कहा कि बीजेपी निजी स्वार्थ की वजह से सत्ता का दुरुपयोग कर रही है. केंद्र की नीतियां पूरी तरह से गलत हैं और इस वजह से देश में इस वक्त गरीबी, अशिक्षा और तनाव का माहौल है. मायावती ने कहा कि गरीब, आदिवासी, मुस्लिम और दूसरे धार्मिक अल्पसंख्यक इस सरकार में ज्यादा परेशान हैं.

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि बीजेपी ने भी कांग्रेस की तरह जनहित के मुद्दों को ताक पर रख दिया है. पूरे देश में अराजकता और तनाव का माहौल है. मौजूदा सरकार की गलत नीतियों की वजह से देश तनाव के माहौल में है. मायावती ने कहा, बीजेपी की इन्हीं कमियों की वजह से कांग्रेस एंड कम्पनी इसका फायदा उठा रही है. बीएसपी इन हालातों को लेकर काफी चिंतित है.

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, पूरे देश में किसानों की हालत काफी खराब है. ऐसे में हमारा पार्टी के लोगों को निर्देश है कि असहाय और गरीबों की ज्यादा मदद करनी चाहिए. बीजेपी की केंद्र और राज्य की सरकार गरीबों के खिलाफ ही काम कर रही है. इनके काम से ज्यादातर तनाव और बेरोजगारी ही फैली है.

बीएसपी प्रमुख ने कहा, बीएसपी देश की गरीब जनता के साथ है. बीजेपी को एनआरसी, एनपीआर की जिद छोड़ देनी चाहिए. गांव देहात बेरोजगारी से त्रस्त हैं. दलित आदिवासी भी बेहाल हैं. मायावती ने कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों की सरकार है. महंगाई ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है.

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा, बीएसपी ने सबसे पहले नोटबंदी, ईवीएम और बाकी मुद्दों पर आवाज उठाई. इसलिए कांग्रेस और दूसरी पार्टियो को झूठ बोलना बंद करना चाहिए. बीएसपी कभी भी बगैर इजाजत के धरना प्रदर्शन और हिंसा में शामिल नहीं होती.